क़ुरआन ए करीम की हिफ़ाज़त

اِنَّا نَحْنُ نَزَّلْنَا الذِّكْرَ وَ اِنَّا لَهٗ لَحٰفِظُوْنَ(۹)۔बेशक हम ने उतारा है ये क़ुरआन और बेशक हम ख़ुद इसके निगेहबान हैं। तफ़सीर ख़ज़ाइनुल इरफ़ान :- तहरीफ़ व तब्दील व ज़्यादती व कमी से उस की हिफ़ाज़त फ़रमाते हैं। तमाम जिन्न व इन्स और सारी ख़ल्क़ के मक़दुर में नहीं है कि उस में एक हर्फ़ की कमी बेशी करे या तग़य्यीर व तब्दील कर सके और चुंके अल्लाह तआला ने क़ुरआन ए करीम की हिफ़ाज़त का वादा फ़रमाया है इसलिए ये ख़ुसूसीयत सिर्फ़ क़ुरआन शरीफ़ ही की है दुसरी किसी…

Read More