माह-ए-रमज़ान: तरावीह की नमाज़ के लिए हाफ़िज़ व वक्त मुकर्रर

गोरखपुर। माह-ए-रमज़ान अनकरीब आने वाला है। अगले हफ्ते से रोजा शुरु हो जायेगा। रमज़ान के इस्तकबाल के लिए तैयारियां चल रही हैं। रमज़ान में तरावीह नमाज का विशेष महत्व है। तरावीह में बीस रकात नमाज़ अदा की जाती है। तरावीह की नमाज़ में हाफ़िज़ पूरा क़ुरआन शरीफ सुनाते हैं। शहर व देहात की हर छोटी-बड़ी मस्जिदों में तरावीह की नमाज़ विशेष रूप से अदा की जाती है। ज्यादातर मस्जिदों के लिए हाफ़िज़-ए-क़ुरआन तय हो चुके हैं। मुफ्ती व हाफ़िज़ खुश मोहम्मद, हाफ़िज़ रहमत अली, मौलाना व हाफ़िज़ रजिउल्लाह, हाफ़िज़ अब्दुर्रहमान,…

Read More