पुकार: इस बार ख़ामोशी कहेगी

मीरा रोड़: कविताएँ, गीत, कहानियाँ आदि हमारे जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं और साहित्य की दुनिया में भी महत्वपूर्ण हैं । लेकिन जब युवा कवियों और लेखकों की बात आती है, तो मज़ा दोगुना हो जाता है और उम्मीदें बढ़ जाती हैं कि युवा कवियों और लेखकों के शब्द भी उनके तरह ही जवाँ होंगे । इसी संबंध में, मंगलवार, 6 अप्रैल, 2021 को, मीरा रोड़ के रॉयल कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स, साइंस एंड कॉमर्स के आर्टस एसोसिएशन और हिंदी विभाग, की तरफ़ से पुकार 3 का ऑनलाइन आयोजन किया…

Read More