दीन बर्बाद करने वाला

एक मर्तबा हज़रते ईसा अलैहिस सलाम एक बस्ती के करीब से गुजरे, देखा के नहरें जारी हैं बस्ती बड़ी पुर रौनक है जन्नत का नमुनह है बस्ती वालों के पास तरह तरह के खाने हैं और उनके पास खूबसूरत और हसीन लड़के और लड़कियां हैं और उस बस्ती के रहने वाले बड़े इबादत गुज़ार भी थे, ये देख कर हज़रते ईसा अलैहिस सलाम को बड़ी मसर्रत हुई और आप आगे बढ़ गए, तीन साल बाद वापस तशरीफ़ लाए तो सूरते हाल बदली हुई थी, न साया दार दरख्त न सब्ज़ह…

Read More