नमाज़े चाश्त का तरीक़ा

नमाज़े चाश्त का वक़्तसूरज निकलने के 20 मिनट बाद से ले कर ज़हवये क़ुबरा यानी ज़वाल से पहले तक है, लेकिन ईद के दिन ईद की नमाज़ के बाद पढ़ना होता है नमाज़े चाश्त में काम से कम 2 रकअत और ज़्यादा से ज़्यादा 12 रकअत हैं और अफ़ज़ल 12 रकअत हैं, अब जो जितनी चाहे पढ़ सकता हैइसके लिए कोई खास तरीक़ा नही है जैसे आम नफ़्ल या सुन्नत की नमाज़ पढ़ते हैं बस वैसे ही पढ़ना हैअब आप चाहे 2 रकअत ही पढ़ें या 4 रकअत या 12,…

Read More