बतला दो गुस्ताख ए नबी को गैरते मुस्लिम ज़िंदा है।

नरसिंहानंद सरस्वती को फौरन गिरफ्तार करे सरकार! लेखक: रौशन रज़ा मिस्बाही अजहरी.धुरकी, गढ़वा, झारखंड हम जिस मज़हब के मानने वाले हैं जिस का मुख्य संदेश ये है की दुनियां में अमन, आश्ती, मुहब्बत की फिज़ा कायेम किया जाए। और इस्लाम के पैग़म्बर हज़रत मोहम्मद मुस्तफा सलाल्लहू अलैहे वसल्लम की ये तालीम भी है की दुनियां में हिंसा और क़त्ल व और कसी भी धर्मगुरु के खेलाफ़ अप्तीजनक टिप्पणी करना हमारे विचार धारा के विरूद्ध है।और हमारा ये देश हमेशा से गंगा जमुनी तहजीब का गहवारा रहा है। और यहां पे…

Read More