जीवन चरित्र 

इमामे आज़म अबू हनीफा नोमान बिन साबित रदियल्लाहु अन्हु का अख़लाक़ व किरदार

सय्यदना इमामे आज़म अबू हनीफा रदियल्लाहु अन्हु दरमियाना क़द :- खूबसूरत, खुश गुफ्तार और शीरीं लहजे वाले थे, आप की गुफ्तुगू (बात चीत) फसीह व बलीग़ होती,हज़रत अबू नोएम रहमतुल्लाह अलैह कहते हैं, इमामे आज़म रहिमाहुल्लाह का चेहरा अच्छा, कपड़े अच्छे खुशबू अच्छी और मजलिस अच्छी होती, आप बहुत करम करने वाले और रफ़ीक़ों (दोस्त, साथी) बड़े गमख्वार थे,उमर बिन हम्माद रहिमाहुल्लाह कहते हैं, आप खूब सूरत और खुश लिबास थे, कसरत से खुशबू इस्तिमाल करते थे, जब सामने से आते या घर से निकलते तो आप के पहुंचने से…

Read More
जीवन चरित्र 

इमामे आज़म अबू हनीफा नोमान बिन साबित रदियल्लाहु अन्हु की हालाते ज़िन्दगी (भाग-2)

इमामे आज़म अबू हनीफा रदियल्लाहु अन्हु की इल्मी अज़मतो रिफ़अत :- अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त ने इमामे आज़म अबू हनीफा रदियल्लाहु अन्हु को जो इल्मी अज़मतो रिफ़अत बुलंदी अता फ़रमाई है वो बहुत कम लोगों के हिस्से में आई है:हैरान कुन ख़्वाब: इमामे आज़म ने एक रात ख़्वाब देखा के आप नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की क़ब्र मुबारक खोल कर आप के जिसमे अक़दस की हड्डियां अपने सीने से लगा रहे हैं, ये ख्वाब देख कर आप पर सख्त घबराहट तारी हुई, ख़्वाबों के बहुत बड़े आलिम ज़लीलुलक़द्र ताबई इमाम…

Read More
जीवन चरित्र 

इमामे आज़म अबू हनीफा नोमान बिन साबित रदियल्लाहु अन्हु की हालाते ज़िन्दगी (भाग-1)

विलादत बा सआदत :- सय्यदुल औलिया, रईसुल फुक़्हा, वल मुज्तहदीन, वल मुहद्दिसीन, इमामुल अइम्मा, सिराजुल उम्माह, काशिफ़ुल गुम्मह, इमामे आज़म अबू हनीफा नोमान बिन साबित कूफ़ी रदियल्लाहु अन्हु” आप अस्सी 80, हिजरी में कूफ़ा में पैदा हुए, “नुज़हतुल कारी शरह सहीहुल बुखारी में है: हज़रत इमामे आज़म अबू हनीफा रदियल्लाहु अन्हु की पैदाइश किस सन में हुई इस बारे में दो क़ौल मशहूर हैं, 70, हिजरी या अस्सी 80, हिजरी ज़्यादातर लोग अस्सी 80, हिजरी को तरजीह देते हैं, लेकिन बहुत से मुहक़्क़िक़ीन ने 70, हिजरी को तरजीह दी है,…

Read More