गलत फहमियो का निवारण धार्मिक 

क्या इस्लाम में मांसाहारी होना ज़रूरी है

सवाल: क्या इस्लाम में मांसाहारी होना ज़रूरी है? माँसाहार के लिए जीव हत्या क्यों कि जाती है? जवाब:- माँसाहार इस्लाम में अनिवार्य (फ़र्ज़ नहीं है) एक मुसलमान पूर्ण शाकाहारी होने के बावजूद एक अच्छा मुसलमान हो सकता है। मांसाहारी होना एक मुसलमान के लिए ज़रूरी नहीं है। यह भी एक भ्रांति है कि सिर्फ मुस्लिम ही मांसाहार करते हैं ।जबकि तथ्य यह है कि विश्व की लगभग 90 % जनता और खुद हमारे भारत देश की 70% जनता मांसाहारी है। विश्व के किसी भी प्रमुख धर्म में माँसाहार को वर्जित…

Read More
गोरखपुर 

हज़रत अब्दुर्रहमान बिन औफ, हज़रत तमीम अंसारी व मुफ़्ती मुजीब अशरफ का मनाया उर्स

गोरखपुर। शाही जामा मस्जिद तकिया कवलदह में रविवार को सहाबी-ए-रसूल हज़रत सैयदना अब्दुर्रहमान बिन औफ रदियल्लाहु अन्हु, सहाबी-ए-रसूल हज़रत सैयदना तमीम अल अंसारी रदियल्लाहु अन्हु व अशरफुल फुकहा हज़रत मुफ़्ती मो. मुजीब अशरफ क़ादरी अलैहिर्रहमां का उर्स-ए-पाक अकीदत व एहतराम के साथ मनाया गया। क़ुरआन ख़्वानी, फातिहा ख़्वानी व दुआ ख़्वानी के जरिए अकीदत का नज़राना पेश किया गया। मकतब इस्लामियात के शिक्षक कारी मो. अनस रज़वी ने कहा कि सहाबी-ए-रसूल हज़रत अब्दुर्रहमान बिन औफ मक्का शरीफ में पैदा हुए। आपके वालिद का नाम औफ व वालिदा का नाम शिफ्फा…

Read More
राजस्थान सामाजिक 

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने देश की एक और ग़रीब बेटी की मदद किया

जयपुर स्थित झोटवाड़ा में ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के पंजीकृत कार्यालय से आज शादी के लिए ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने देश की एक और ग़रीब बेटी की मदद किया। उसे 15 हज़ार 786 रूपये के साथ साथ एक प्रेस और 36 बर्तनों का सेट दिया। यह मदद उत्तर प्रदेश के ज़िला गोरखपुर के ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के ज़िला अध्यक्ष समीर अली के कहने पर दिया गया। ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी, चिश्ती, क़ादरी ने कहा कि राष्ट्रवादी एनजीओ, ग़ौसे आज़म फाउंडेशन पुरे…

Read More
गोरखपुर 

ह्यूमन राइट्स लॉ नेटवर्क की ओर से गोरखपुर जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के सभागार में कानूनी सहायता एवं सामाजिक जागरूकता शिविर का आयोजन

गोरखपुर। ह्यूमन राइट्स लॉ नेटवर्क (एचआरएलएन) की ओर से आज गोरखपुर जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के सभागार में कानूनी सहायता एवं सामाजिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 60 से अधिक लोगों ने भागीदारी की। शिविर में संवैधानिक एवं कानूनी अधिकारों पर चर्चा की गई और प्रस्तुत किए गए विभिन्न मुद्दों पर कानूनी सहायता दी गई। शिविर में एचआरएलएन की ओर से हाईकोर्ट इलाहाबाद में अधिवक्ता अली जैदी और हाईकोर्ट की लखनउ बेंच में अधिवक्ता आशमा इज्ज़त ने शिविर में आए लोगों को उनके द्वारा उठाए गए मुद्दों, समास्याओं पर सलाह…

Read More
गोरखपुर 

ईद-उल-अज़हा की नमाज़ अदा करने का तरीका बताया गया, दर्स का समापन

गोरखपुर। शाही जामा मस्जिद तकिया कवलदह मस्जिद में कुर्बानी पर चल रहे दर्स (व्याख्यान) के अंतिम दिन मंगलवार को हाफ़िज़ आफताब ने कहा कि ईद-उल-अज़हा पर्व सादगी, शांति व उल्लास के साथ मनाया जाए। साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। क़ुर्बानीगाह के चारों तरफ पर्दा लगाकर क़ुर्बानी करें। अपशिष्ट पदार्थ, खून व हड्डी वगैरा इधर-उधर न फेंके, उन्हें गड्ढ़े में दफ़न करें। मुसलमानों को चाहिए कि ईद-उल-अज़हा के दिन गुस्ल करें। साफ सुथरे या नये कपड़े पहनें। खुशबू लगाएं। ईद-उल-अज़हा की नमाज़ से पहले कुछ न खाएं तो बेहतर है।…

Read More
गोरखपुर 

क़ुर्बानी का जानवर औरतें भी ज़बह कर सकती हैं: महज़बीन, अलहदादपुर में औरतों का इज़्तिमा

गोरखपुर। सोमवार को मदरसा क़ादरिया तजवीदुल क़ुरआन लिल बनात इमामबाड़ा अलहदादपुर में ईद-उल-अज़हा पर्व को लेकर औरतों का इज़्तिमा (सभा) हुआ। क़ुरआन-ए-पाक की तिलावत कारिया काशिफा बानो ने की। नात-ए-पाक नौशीन फातिमा व नौशिया फातिमा ने पेश की। सदारत करते हुए आलिमा महज़बीन खां सुल्तानी ने कहा कि ईद-उल-अज़हा पर्व पैग़ंबर हज़रत इब्राहिम अलैहिस्सलाम व पैग़ंबर हज़रत इस्माइल अलैहिस्सलाम की क़ुर्बानी की याद में मनाया जाता है। क़ुरआन-ए-पाक में अल्लाह ने क़ुर्बानी करने का हुक्म दिया है, इसलिए मुसलमान क़ुर्बानी में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेकर अल्लाह के हुक्म को पूरा…

Read More
हरदोई 

सांडी में तेंदुए ने मचाया कोहराम एक को किया घायल

सांडी हरदोई सांडी कस्बे में आज उस समय हड़कंप मच गया जब एक जंगली तेंदुआ कस्बे के बिजली पावर हाउस में आ गया पावर हाउस के अंदर कबाड़ बिन रहे एक व्यक्ति ने उसे बैठा देखा इसके बाद लोगों को सूचना दी सूचना के बाद लोग पावर हाउस की तरफ तेंदुए को देखने दौड़े इससे घबराए तेंदुए ने एक मकान में घुसकर शरण ली तेंदुए उसी मकान में रह रहे सुनील बाजपेई पर हमला बोल दिया और उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया उसी मकान में रह रहे 4…

Read More
गोरखपुर 

क़ुर्बानी पर महिलाओं का इज़्तिमा आज

गोरखपुर। मदरसा क़ादरिया तजवीदुल क़ुरआन लिल बनात इमामबाड़ा अलहदादपुर में 18 जुलाई रविवार को सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक महिलाओं का इज़्तिमा (सभा) होगा। जिसमें पैगंबर हज़रत इब्राहिम अलैहिस्सलाम, पैगंबर हज़रत इस्माईल अलैहिस्सलाम व हज़रत सैयदा हाजरा की क़ुर्बानियां व काबा शरीफ की तामीर पर महिला धर्मगुरु प्रकाश डालेंगी। यह जानकारी मदरसा के संचालक कारी शराफत हुसैन क़ादरी ने दी है।

Read More
गोरखपुर 

शाही जामा मस्जिद में दर्स का 5वां दिन: क़ुर्बानी के जानवर में ऐब नहीं होना चाहिए: हाफ़िज़ आफताब

गोरखपुर। शाही जामा मस्जिद तकिया कवलदह में क़ुर्बानी पर चल रहे दर्स (व्याख्यान) के 5वें दिन शनिवार को हाफ़िज़ आफताब ने बताया कि क़ुर्बानी में भेड़, बकरा-बकरी, दुम्बा सिर्फ एक आदमी की तरफ से एक जानवर होना चाहिए और भैंस व ऊंट में सात आदमी शिरकत कर सकते हैं। क़ुर्बानी के लिए ऊंट पांच साल, भैंस दो साल, बकरा-बकरी एक साल का होना चाहिए। कुर्बानी के जानवर को ऐब (दोष) से खाली होना चाहिए। अगर थोड़ा से ऐब हो तो क़ुर्बानी हो जाएगी मगर मकरूह होगी और ज्यादा हो तो…

Read More
राजस्थान सामाजिक 

ग़रीब लड़की को ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने 51 हज़ार 7 सौ 86 रूपये दिया

राष्ट्रवादी एनजीओ, ग़ौसे आज़म फाउंडेशन बहुत ही कम समय में बहुत बड़े-बड़े काम कर चुका है और पुरे भारत में ग़रीबों और हक़ीक़ी ज़रूरतमंदों की अनेकों प्रकार से मदद कर चुका है और इं शा अल्लाह! आगे भी अनेकों प्रकार से भारत के असहाय लोगों की मदद करता रहेगा। पुरे भारत में ग़ौसे आज़म फाउंडेशन लगातार किसी न किसी हक़ीक़ी ज़रूरतमंद की मदद कर रहा है। इसी क्रम में कर्नाटक की एक ग़रीब बेटी की शादी के लिए ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने उस ग़रीब लड़की को 51 हज़ार 7 सौ…

Read More