गोंडा व बलरामपुर 

रमज़ान में असहाय की सहायता जरुर करें: मुफ्ती मोहम्मद असरार अहमद फ़ैज़ी

गोण्डा: 18-4-2021
शनिवार को खलीफऐ हज़ुर ताहिरे -मिलत हज़रत अल्लामा मुफ़्ती मुहम्मद असरार अहमद फ़ैज़ी वाहिदी मुदज़िला-उल-अली, सदर रज़ा अकादमी गोंडा जिला, यूपी ने एक प्रेस विज्ञप्ति में अपने विचार व्यक्त किए! कहा कि पवित्र कुरान और जीवनी पवित्र पैगंबर हूजूर सललाहू ताअला अलैहि वसल्लम की शिक्षाओं ने हमें सिखाया है कि सबसे अच्छा व्यक्ति वह है जो दूसरों को लाभ पहुंचाता है और किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता है।गरीबों, जरूरतमंदों और आम लोगों के दिलों को खुशी से भर दें, हो सकता है कि वह अपने जीवन के क्षणों को दुःख और शोक से शुद्ध करने का प्रयास करे, यहां तक ​​कि कुछ क्षणों के लिए, वह उन्हें दे सकता है और उनके दर्द को हल्का कर सकता है , । अगर उन्हें मदद की ज़रूरत हो तो उनकी मदद करें और अगर आप कुछ नहीं कर सकते हैं तो कम से कम उनसे मीठी-मीठी बातें कर के उनकी चिंताओं को दूर करें।पयारे नबी ने कहा कि सबसे अच्छा इंसान वही है जो दूसरे इंसानों के लिए उपयोगी और फायदेमंद हो।जब हम किसी की सहायता करते हैं तो फ़ितरती तौर पर दोनों के बीच मुहब्बत और भाई चारगी जन्म लेती है। नबी का फरमान है कि तुम में से कोई उस वक्त तक मोमिन नहीं हो सकता. जब तक की अपने दुसरे भाइयों की सहायता न करे।जिस तरह माहे रमज़ान में नमाजों के ऐहतमाम करते हैं इसी तरह ज़कात, नफली सदक़ात व खैरात भी बांटना चाहिए ।इस माह में दुगुना सवाब मिलता है। इसलिए जरूरतमंदों और बेसहारा लोगों की मदद करें, जिनके पास कपड़े न हो उन्को कपड़े पहनाएं, भूखों को खाना खिलाएं, अनाथों, विधवाओं, गरीबों और जरूरतमंदों की जरूरतों को पुरा करे़. और अपनी हैसियत के मुताबिक रोजे़ दारों को इफ्तार कराऐं।

Related posts

Leave a Comment