गोरखपुर 

पैगंबर-ए-इस्लाम के गुस्ताख को जेल भेजा जाए: मौलाना अफरोज़

गोरखपुर। हुसैनी कमेटी की ओर से सहजनवां वार्ड नं. 14 में शनिवार देर रात तहफ़्फ़ुजे नामूसे रिसालत जलसा हुआ। खिताब करते हुए मौलाना अफरोज निज़ामी ने कहा कि पैगंबर-ए-इस्लाम (सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम) की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जो लोग भी ऐसा कर रहे हैं उनको सज़ा देने के लिए कानून बनाया जाए। हिंदुस्तान सरकार से हमारी मांग है कि ऐसे लोगों को पकड़कर जेल में बंद किया जाए ताकि आइंदा किसी और की पैगंबर-ए-इस्लाम के ख़िलाफ अपशब्द कहने जुर्रत न हो। आगाज़ क़ुरआन-ए-पाक की तिलावत से हुआ। नात व मनकबत नौशाद, अनवर, शम्स तबरेज निज़ामी, हाफ़िज़ इसरार अहमद ने पेश की। संचालन शहजाद अहमद ने किया। जलसे में मौलाना अनवर अहमद, रमज़ान, मेराज, गोलू, शालू, इरफ़ान, झिनक, निज़ामुद्दीन, रिंकू, नूर मोहम्मद आदि मौजूद रहे। अंत में सलातो सलाम पढ़कर मुल्क में अमन व शांति की दुआ मांगी गई।

Related posts

Leave a Comment